अपराध

पैसे के लालच में आशा ने किया था खेल, हॉस्पिटल संचालक समेत 3 भेजे गए जेल... मां-बच्चे की मौत मामले में पुलिस का कड़ा एक्शन

 


महराजगंज टाइम्स ब्यूरो : पनियरा थाना क्षेत्र के पनियरा कस्बे में स्थित मेडिसिटी हॉस्पिटल में जच्चा बच्चा के मौत मामले में पुलिस  ने एक आशा समेत तीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 25 अगस्त को सिजेरियन के दौरान जच्चा बच्चा की मौत हो गई थी। जिसमें अपर सीएमओ व मृतका के पति ने मेडिसिटी हॉस्पिटल संचालक व आशा के खिलाफ पनियरा थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस के विवेचना में चौकानें वाला खुलासा हुआ है। इस कड़ी कार्यवाई से महराजगंज जिले के फर्जी अस्पताल संचालकों में हड़कम्प मचा हुआ है। 
पैसे के लालच में आशा ने प्राइवेट हॉस्पिटल में गर्भवती को कराई थी भर्ती 

25 अगस्त 2022 को रामअवतार पुत्र भोला चौहान निवासी ग्राम चौरी थाना कैम्पियरगंज जनपद गोरखपुर द्वारा अपनी गर्भवती पत्नी प्रमिला देवी को डिलेवरी हेतु प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पनियरा में भर्ती कराया गया था। अगले दिन 26 अगस्त को रात में 8 बजे प्रमिला को आशा कार्यकत्री संगीता ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पनियरा से मेडीसिटी हास्पिटल कस्बा पनियरा में ले जाकर भर्ती करा दिया था। जहां हास्पिटल संचालक डॉ. अजीत चौरसिया तथा उसके सहयोगी आरिफ व एन.के. अंसारी द्वारा डिलेवरी के लिए समुचित व्यवस्था तथा तकनीकी मशीनी उपकरण उपलब्ध नही होने व जच्चा- बच्चा के इलाज का अनुभव अथवा कोई चिकित्सकिय ड्रिग्री न होते हुए भी उक्त गर्भवती प्रमिला की डिलेवरी करायी गयी, जिसके उपरान्त प्रमिला व उसके नवजात शिशु की तबीयत खराब होने लगी। जिसके बाद हास्पिटल संचालक अजीत चौरसिया व उसके सहयोगी मेडीसिटी हास्पिटल छोड़कर भाग गये थे। 

जिसके सम्बन्ध में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, महराजगंज द्वारा थाना स्थानीय पर अभियोग पंजीकृत कराया गया तथा मृतका प्रमिला के पति रामअवतार उपरोक्त द्वारा भी थाना पनियरा पर एक अभियोग पंजीकृत कराया गया था। 

हॉस्पिटल संचालक के पास पुलिस को मिला बी-फार्मा की डिग्री

विवेचनोपरान्त पुलिस ने पाया कि हास्पिटल संचालक अजीत चौरसिया के पास बी- फार्मा की डिग्री है तथा उसके अन्य सहयोगियो के पास कोई डिग्री नही है। आशा कार्यकत्री कमिशन के एवज में भोले-भाले ग्रामीणों को मेडिसिटी हास्पिटल में भर्ती कराती थी। जिसके परिणामस्वरूप गर्भवती प्रमिला व उसके नवजात शिशु की मृत्यु हो गयी थी। 
इस मामले में पुलिस ने आज आरोपी डॉ. अजित चौरसिया पुत्र रामदयाल चौरसिया निवासी पल्लहीपार बाबु साकिन खजनी थाना पनियरा जनपद महराजगंज उम्र 25 वर्ष, दूसरे आरोपी आरीफ अंसारी पुत्र अनवारुल अन्सारी उम्र 22 वर्ष साकिन बभनौली बुजुर्ग थाना पनियरा जनपद महराजगंज, तीसरी आरोपी आशा संगीता देवी पत्नी संजय कुमार उम्र 42 वर्ष साकिन जंगल बाकी टुकड़ा नं 14 थाना पनियरा महराजगंज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

Most Popular