अपराध

जिले के तीन डॉक्टर डी फार्मा में एडमिशन के नाम धोखाधड़ी के हुए शिकार, कोतवाली में दर्ज कराया मुकदमा


महराजगंज टाइम्स ब्यूरो:- 
नगर क्षेत्र के तीन डॉक्टर डी फार्मा में एडमिशन के नाम पर जालसाज के झांसे में आ गए और उसे 5 लाख 70 हजार रुपए दे दिया।जालसाज ने पैसा ऐंठ लिया और एडमिशन भी नही हुआ। कोतवाली में सुलह समझौता हुआ जिसमें आरोपी दिसंबर में पैसा देने के लिए तैयार हुआ लेकिन उसके पहले डॉक्टरों के खिलाफ झूठा दरख्वास्त दे दिया। तीनों डॉक्टरों की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी नसीम अली निवासी चकखान मोहम्मद, थाना गुलरिहा जिला गोरखपुर के खिलाफ धोखाधड़ी समेत कई धारा में केस दर्ज कर लिया है। कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर डाक्टर सलीम खान निवासी मुहल्ला सिविल लाइन, डाक्टर जियाउलहक सिद्धीकी निवासी गबडुआ व डाक्टर अबरारुलहक निवासी पिपरा बाबू ने बताया कि नसीम अली पुत्र यासीन अली ग्राम चकखान मोहम्मद, थाना- गुलरिहा, जनपद-गोरखपुर एक बहुत ही चालबाज एवं धोखेबाज किस्म का व्यक्ति है  जिसको हम लोग ठीक से जान नही पाये थे। उसका आना जाना हम लोगों के पास शुरू ही हुआ था। हम लोगों को धोखा देने एवं छल करने की नियत से उसने कहा कि एक लाख नब्बे हज़ार रुपये में वह डी०फार्मा में एडमिशन करवा देगा। उसकी बातों पर विश्वास करके तीनों लोगों ने कुल 5,70,000 रूपये जून 2018 में उसे दे दिया। लेकिन काफी समय बीतने के बाद भी एडमिशन कराये जाने का कोई प्रपत्र नही मिला तो नसीम अली से एडमिशन के प्रपत्र की  मांग की गई पर वह एक न एक बहाना बनाता रहा। इसी बीच कोविड भी आ गया। हम लोग उसकी बातों पर विश्वास करते रहे, मगर जब काफी समय बीत गया और नसीम अली ने एडमिशन नही कराया तो हम लोगों ने अपना पैसा वापस मांगा तो नसीम अली ने हम तीनों को स्लिप दिखाते हुए बताया कि रजिस्ट्रेशन हो गया है।जब हम लोगों ने स्लिप पर अंकित नम्बर को मोबाईल से चेक किया तो वह बिल्कुल फर्जी निकला तो नसीम अली ने हम लोगों से उक्त स्लिप यह कहते हुए वापस ले लिया कि लगता है लिखने में गलती हो गयी। इसे सही कराकर एक सप्ताह में फिर आयेंगे मगर नसीम अली ने हम लोगों का रजिस्ट्रेशन कराये जाने का कोई प्रपत्र बहुत दिनों तक नहीं दिया तो पुनः हम लोगों ने अपना रूपया वापस मांगा। जिसके सम्बन्ध में नसीम अली ने एक समझौता  06 अगस्त 2022 को कोतवाली में पुलिस के समक्ष किया और नसीम अली ने दिसम्बर 2022 तक रूपया वापस करने के लिए कहा। मगर हम लोगों का रुपया हड़पने एवं नाजायज दबाव देने के लिए दिसम्बर आने के पूर्व ही उसने बिल्कुल ही झूठा दरख्वास्त दे दिया है। उसकी नीयत पूरी तरह से बद हो गयी है, वह हम लोगों का रूपया वापस देना नहीं चाहता है और पूरा रूपया हड़प जाना चाहता है। ऐसी स्थिति में उक्त नसीम अली के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करते हुए प्रार्थीगण का रुपया वापस दिलाया जाना न्यायहित में आवश्यक है । इस मामले में कोतवाल रवि कुमार राय ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : किशोरी को अगवा कर दुष्कर्म के मामले में कोर्ट ने आरोपी को सुनाई बीस वर्ष की सजा

Comments (0)

Leave a Comment