अपराध

जिले के 27 ग्राम पंचायतो से बने है फर्जी जन्म प्रमाण पत्र ,मुकदमा दर्ज


महराजगंज टाइम्स ब्यूरो :- नौतनवा तहसील क्षेत्र के बैकुंठपुर टोला गोदरवार में 280 फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मिलने के बाद जिले में हड़कंप मचा हुआ है। फर्जी जन्म प्रमाण पत्रों की जांच के बाद जो तत्व सामने आए हैं वह चौकाने वाले हैं। अब तक की जांच में जिले के 27 ग्राम पंचायत में जारी पंचायत सचिवों की आईडी से 30 हजार से अधिक फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाए जाने का मामला सामने आया है। वही जांच कमेटी के रिपोर्ट के अनुसार ग्राहक सेवा केंद्र संचालकों ने फर्जी वेबसाइट के माध्यम से भी जन्म प्रमाण पत्र जारी कर दिया है। पूरे मामले में अभी पुलिस के साइबर सेल और प्रशासन की टीम में विभागों द्वारा जारी जन्म प्रमाण पत्र की समीक्षा भी की जा रही है। सूत्रों की माने तो अभी और भी फर्जी जन्म प्रमाण पत्र पकड़ में आ सकते हैं। एडीपीआरओ सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि नौतनवा के बैकुंठपुर में फर्जी जन्म प्रमाण पत्रों के पकड़े जाने के बाद जांच कमेटी द्वारा मिले साक्ष्यों के मुताबिक कुल 27 ग्राम पंचायत में अमड़ा उर्फ झुलनीपुर, बिलासपुर, बिरैचा, महदेवा, ऊंटी खास, जंगल जोगियाबारी, बभनी, बैकुंठपुर, महदेइया, मर्यादपुर, भरौली बुजुर्ग, जमुहरा कला, सोनवल, लुटहवा, खैरहवा जंगल, मनिकापुर, जिगिनिहवा, महुअवा, पिपरा, रामनगर, खालिकगढ़, बहड़रामीर, बांसपार मिश्र, बेलराई, गोनहा, विशुनपुर फुलवरिया व बसंतपुर ग्राम सचिव की यूजर आईडी  व पासवर्ड का फर्जी तरीके से प्रयोग कर जन्म से अधिक संख्या में जन्म प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया है। हालांकि यह प्रमाण पत्र किसके के द्वारा बनाए गए हैं यह जांच का विषय है।मामले में सदर कोतवाली में  अज्ञात के खिलाफ भारतीय न्याय संहिता की धारा 420, 465, 467, 468, 471 व 66 डी आईटी एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कराया गया है। इस मामले में कोतवाल रवि कुमार रॉय ने बताया कि तहरीर के आधार पर अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी व आईडी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। विधिक कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : पांच वर्षीय पुत्र के साथ फांसी लगाकर महिला ने खुदकुशी,पुलिस अधीक्षक ने किया घटना का निरीक्षण