Maharajganj

ईओ की तत्परता देख नगर पंचायत अध्यक्ष हुईं हैरान,बिना स्वीकृति के नगर पंचायत चौक में हो गया लाखो काम,फर्जी भुगतान के दबाव पर अध्यक्ष ने लगाई डीएम से गुहार


महराजगंज टाइम्स ब्यूरो:- नए नगर पंचायत चौक में बिना अध्यक्ष की स्वीकृति के बिना काम करने व पैसा भी निकलने का मामला सामने आया है। अध्यक्ष प्रतिनिधि को जब इसका  पता चला तो डीएम को शिकायती पत्र देकर जांच की गुहार लगाई है।नगर पंचायत चौक के अधिशासी अधिकारी व वरिष्ठ लिपिक के खिलाफ महिला चेयरमैन ने डीएम से शिकायत की है। चेयरमैन संगीता देवी की शिकायत के मुताबिक ईओ व वरिष्ठ लिपिक ने अध्यक्ष की स्वीकृति के बिना काम कराया है। टेंडर की प्रक्रिया भी पूरी नहीं की गई है। 

 अध्यक्ष की स्वीकृति/हस्ताक्षर एवं बगैर निविदा की प्रकिया पूरी कराए  3 लाख 63 हजार रूपए का कराया निर्माण कार्य

शिकायत के मुताबिक ईओ ने बगैर अध्यक्ष की स्वीकृति/हस्ताक्षर एवं बगैर निविदा की प्रकिया पूरी कराए 3 लाख 63 हजार रूपए का निर्माण कार्य कराया है। अब भुगतान के लिए दबाव बनाया जा रहा है और फर्जी मुकदमा दर्ज करने की धमकी भी दी जा रही है। नगर पंचायत अध्यक्ष संगीता देवी ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर अधिशासी अधिकारी दिनेश सिंह पर साक्ष्य सहित आरोप लगाया है। अध्यक्ष प्रतिनिधि अजय कुमार ने बताया कि निर्माण से संबंधित पांच फाइल निर्माण कार्य कराने के बाद भुगतान स्वीकृति के लिए अध्यक्ष को दी गई। 
अध्यक्ष ने जब आपत्ति जताई तो  इस पर उन्हें फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर जबरन हस्ताक्षर कराने को कहा। इसके बाद अध्यक्ष ने डीएम को शिकायती पत्र सौंप निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की है।

वित्तीय अनियमितता में फसाने का हो रहा षड्यंत्र नपा अध्यक्ष
नगर पंचायत अध्यक्ष संगाती देवी ने बताया कि वह एक अनपढ़ दलित महिला हैं। ईओ व लिपिक किसी राजनीतिक दबाव में उसे वित्तीय अनियमितता में फंसाने के षड्यंत्र रच रहे हैं लेकिन वह अपने विधि सलाहकार के परामर्श से ही किसी फाइल आदि पर हस्ताक्षर करेंगी। जिससे उनके अनपढ़ होने का लाभ कोई ना उठा पाए। नगर पंचायत अध्यक्ष के मुताबिक उस पर यदि इसी तरह का दबाव बनाकर उत्पीड़न किया जाएगा तो वह मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी पीड़ा बताएंगी

यह भी पढ़ें : सीओ की विवेचना में झूठा निकला एससीएसटी एक्ट व युवती के अपहरण का मामला, जुर्म खारिज