अपराध

दुस्साहस: चिउरहा में अंग्रेजी शराब की दुकान के सामने नपा अध्यक्ष के भांजे की गोली मारकर हत्या

 

-रात करीब साढ़े नौ बजे वारदात को दिया अंजाम, सिर में सटाकर मारी गई है गोली

-सड़क किनारे खून से लथपथ पड़ा था शव, पुलिस महकमा में हड़कंप, छानबीन में जुटी पुलिस
महराजगंज टाइम्स ब्यूरो:-  महराजगंज: शहर के चिउरहा स्थित विदेशी शराब की दुकान के सामने बेखौफ अपराधियों ने नगर पालिका अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल के भांजे गौरव जायसवाल की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस की मानें तो अपराधियों ने सिर में सटाकर गोली मारी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद इलाके में अफरा तफरी मच गई। वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस महकमा में भी हड़कंप मच गया। आननफानन में कोतवाली थाने की पुलिस, एडिशनल एसपी सहित अन्य पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच छानबीन में जुट गए हैं। पुलिस कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। एसपी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि गौरव जायसवाल की गोली मार कर हत्या हुई है। सभी पहलुओं को जांच की जा रही है।
घर से बुलाकर वारदात को दिया गया अंजाम
गौरव मूलरूप से जिला मुख्यालय स्थित सब्जी मंडी के पास के निवासी थे। अभी उनकी शादी नहीं हुई थी। वह अधिवक्ता के साथ ही भाजपा के स्वच्छता मिशन के जिला संयोजक थे। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि अपराधियों ने योजना बनाकर उन्हें फोन कर पहले घर से बुलाया। फिर शराब की दुकान के पास बिरयानी की दुकान की तरफ ले गए। इसके बाद वारदात को अंजाम देकर अपराधी फरार हो गए। हत्या में शामिल बदमाशों के लोकल के होने की आशंका जताई जा रही है। रात करीब साढ़े नौ बजे बिरयानी की दुकान के पास गोली चली। फायरिंग की आवाज सुनकर वहां भगदड़ मच गई। वहां मौजूद कुछ लोगों ने देखा कि गौरव  जमीन पर खून से लथपथ हालत में गिरे पड़े हैं। उनके सिर में गोली लगी थी और उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस देर रात तक वहां मौजूद लोगों से जानकारी जुटा रही थी। हत्या के पीछे मुख्य वजह? गोली किसने मारी? अपराधी वारदात के बाद किस दिशा में भागे? घटनास्थल पर फायरिंग के पहले किनसे क्या विवाद हुआ था? आपसी विवाद, पुरानी रंजिश सहित अन्य बिन्दुओं पर पुलिस देर रात तक छानबीन करती रही।
तकनीकी अनुसंधान से तफ्तीश में जुटी पुलिस
घटनास्थल पर पुलिस खोखा की तलाश में जुटी थी। वहीं गौरव के मोबाइल नम्बर से कॉल डिलेट भी पुलिस खंगाल रही है। पुलिस की एक टीम संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। गौरव के साथ पूर्व में कोई विवाद, आपसी रंजिश, जमीनी विवाद सहित अन्य बिंदुओं पर छानबीन की जा रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो जिस तरह उन्हें फोन कर बुलाने की बात सामने आ रही है उससे स्पष्ट हो रहा है कि वारदात के पीछे कोई जान पहचान का ही है। विश्वास में लेकर उन्हें करीब से गोली मारी गई है।
जिला अस्पताल पर लगा भाजपा नेताओं का जमावड़ा
नगर पालिका अध्यक्ष के भांजे की गोली मार कर हत्या की सूचना आग की तरह शहर में फैल गई। जिला अस्पताल पर भारी भीड़ जमा हो गई। भाजपा जिलाध्यक्ष परदेशी रविदास, नगर पालिका अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल समेत कई भाजपा नेताओं के अलावा सैकड़ों लोग पहुंचे। परिजन दहाड़ मार कर रो रहे थे।

Most Popular