अपराध

पनेवा में वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़, चोरी की नौ बाइक के साथ सरगना सहित पांच गिरफ्तार


-नेपाल में खपा रहे थे वाहन, पनेवा नहर के रास्ते गबहुआ नहर पुल की ओर जाने की फ़िराक में थे शातिर, एसओजी और कोतवाली थाने की पुलिस ने की कार्यवाई, सरगना के कई थानों में दर्ज है केस
महराजगंज टाइम्स ब्यूरो:- 
कोतवाली थाने की पुलिस और एसओजी ने वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए पनेवा नहर के पास चोरी की नौ बाइक के साथ पांच शातिरों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से गिरफ्तार इम्तियाज का लम्बा अपराधिक इतिहास है, जिसके खिलाफ पड़रौना सहित आठ थानों में केस दर्ज है। इनके पास से देसी पिस्टल और चाकू भी बरामद हुआ है। पूछताछ में पता चला कि इम्तियाज ही गिरोह का सरगना है जो चोरी की बाइक को नेपाल में ख़पाने की फिराक में था। इसके गैंग में शामिल कुछ अन्य लोगों का नाम भी सामने आया है। पुलिस उनकी पहचान कर गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है। 
हाल के दिनों में बाइक चोरी की लगातार शिकायत मिल रही थी।

पुलिस अधीक्षक जनपद महराजगंज डॉ कौस्तुभ ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए अपर पुलिस अधीक्षक आतिश कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी सदर जनपद महराजगंज के निर्देशन में प्रनि रवि कुमार राय सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी और जवानों की एक विशेष टीम का गठन किया। टीम को सूचना मिली कि बाइक चोरी करने एवं बेचने वाले गिरोह के कुछ सदस्य चोरी की बाइक को नेपाल में बेचने के फिराक में हैं, जो पनेवा नहर के रास्ते गबडुआ नहर पुल की ओर जाने वाले है। पुलिस इलाके की घेराबंदी कर पनेवा नहर के पास मौजूद थी। दो बाइक पर सवार कुछ लोग आते हुए दिखाई दिये। जो पुलिस को देख भागने का प्रयास किये। पुलिस ने संदेह के आधार पर दोनो वाहनों पर सवार कुल 5 व्यक्तियों को पकड़ लिया। पूछताछ में पकड़े गए व्यक्तियों ने खुद की पहचान इम्तेयाज पुत्र मुस्लिम निवासी जहदा थाना कोठीभार,  खुश्बुद्दीन शाह उर्फ मूसा पुत्र युसुफ निवासी जहदा थाना कोठीभार,  सबरे आलम उर्फ टिम्मल पुत्र राजू निवासी जमुईकला थाना ठूठीबार, राजन जायसवाल पुत्र जमुना जायसवाल निवासी मुजहना बुजुर्ग थाना सिन्दुरिया और  गौतम कुमार गौड़ पुत्र रामानन्द गौड़ निवासी बसुली फार्म थाना कोठीभार बताया। इनके पास वाहनों का कागजात नहीं मिला। कड़ाई से पूछताछ में इन्होंने ने बताया कि  सभी संयुक्त रूप से वाहन चोरी का काम करते हैं। 

15 से 20 हजार में बेच देते थे एक डेढ़ लाख की बाइक

चोरी किये गये वाहनों को नेपाल में ले जाकर अनजान व्यक्तियों  बेच देते हैं उनसे मिले पैसे आपस में बाँटकर अपना खर्चा चलाते हैं। बाइक चुराने से लेकर दूसरे जिले और नेपाल में खपाने का सबका अलग अलग काम तय था। गिरोह 1 से डेढ़ लाख की बाइक को 15 से 20 हजार रुपये में बेच देता था। तलाशी के दौरान अन्य वस्तुओं अतिरिक्त इम्तेयाज उपरोक्त व खुश्बुदीन के पास से एक पिस्टल, एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ है।उपर्युक्त व्यक्तियों में इम्तियाज का एक लम्बा आपराधिक इतिहास है जो अन्तर्जनपदीय वाहन चोर है, जो इस गिरोह का सरहना व मास्टरमाइन्ड भी है।
इन बाइक की हुई बरामदगी


1-यूपी 56 वी 4619 चेचिस नं0 MBLHA 10CGHHA11329
 2-यूपी 56 एक्स 8933,चेचिस नं0 MBLHAR230HHM 10175 वास्तविक रजि0 नं0 यूपी 57 ए0ई0 8861.
3- यूपी 56 वी 0534 चेचिस नं0 MBLHA11AZG9L18500
4-आपाची 160 सीसी बिना नम्बर प्लेट, जिसका चेचिस नं0 MD634KE42H2B324
5- पल्सर, बिना नम्बर प्लेट चेचिस नं0 MD2A1ICZXFWG113
6- एच0एफ0 डिलक्स बिना नम्बर प्लेट, चेचिस नं0 MBLHAR238H9G46232
7- पल्सर बिना नम्बर प्लेट, रंग काला, 150 सीसी, चेचिस नं0 MD2A11CZ4EWB364.
8- एच0एफ0 डिलक्स बिना नम्बर प्लेट, रंग लाल, काला, चेचिस नं0 MBLHAR051H9J02446
9- सुपर स्पलेन्डर नं0 यूपी 56 ए0सी0 5748, रंग काला, नीला, चेचिस नं0 MBLJA0SEMG9E46744 वास्तविक रजि0 नं0 यूपी 56 यू 0492

यह भी पढ़ें : किशोरी को अगवा कर दुष्कर्म के मामले में कोर्ट ने आरोपी को सुनाई बीस वर्ष की सजा

Comments (0)

Leave a Comment